Tuesday, 19 Mar 2019

साल के अंत मैं पुलिस को पेंडिंग केस निपटाने का दबाब होता है। लेकिन ऐसा

साल के अंत मैं पुलिस को पेंडिंग केस निपटाने का दबाब होता है। लेकिन ऐसा दबाब भी क्या काम का की दोषी को छोड़ निर्दोष को ही जेल भेज दिया जाए।

ऐसा ही मामला होशंगाबाद जिले के शिवपुर थाने का आया है। जहाँ के पुलिसकर्मियों ने एक निर्दोष व्यक्ति जेल भेज दिया।

आपको बता दे कि ग्राम पथाड़ा के रहने वाले नेतराम उर्फ शेरसिंह राजपूत कही जा रहे थे। तब उन्हें रोककर पथाड़ा के ही अन्नू कीर और ग्राम जाजना तहसील रहटी निवासी गुड्डू कीर ने रोककर शराब के लिए पैसे की मांग की ओर नही देने पर मारपीट की। जिसके बाद नेतराम ने शिवपुर थाने मैं रिपोर्ट दर्ज कराई।

लेकिन मामला तब तूल पकड़ गया, जब शिवपुर पुलिस ग्राम जाजना के गुडडू कीर की जगह मट्ठा गाँव के निर्भयसिंह उर्फ गुड्डू यदुवंशी को बिना जाँच पड़ताल के शिवपुर थाने उठा लाई ओर यहाँ से सिवनी मालवा जेल भेज दिया गया।

बिना आरोप किये ही निर्भयसिंह यदुवंशी को जेल भेज दिए जाने को लेकर जहाँ यदुवंशी समाज के नागरिक खासे नाराज है, वही फरियादी चेतराम राजपूत भी खासा परेशान है। उसका भी कहना है कि पुलिस ने असली आरोपी को छोड़ निर्दोह व्यक्ति को जेल भेज दिया है।वही ये भी कहा कि राजपूत और यदुवंशी समाज के आपस मे अच्छे संबंध है। लेकिन पुलिस की गलती के चलते हमारे संबंधों मैं खटास आने लगी है।

बिना आरोप किये जेल भेज दिए जाने से नाराज निर्भयसिंह के परिजनों ने एसडीओपी कार्यालय पहुँच पुलिस अधीक्षक के नाम का शिकायती आवेदन सौपा। वही मांग की कि हमारी पूरे गाँव सहित समाज मैं काफी बदनामी हो गई , हम चाहते है कि दोषी पुलिसकर्मियों पर सख्त कार्यवाही की जाए, वही हमारे निर्दोष निर्भयसिंह को जेल से बा इज्जत रिहा किया जाए।

आपको बता दे कि निर्दोष निर्भयसिंह के परिजन शिवपुर थाने के खिलाफ मान हानि का भी केस लगाने की तैयारी कर रहै है
सिवनी मालवा से प्रमोद पटेल की खास रिपोर्टhttps://youtu.be/mbnMF1iQLGo

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *